बुधवार, 13 फ़रवरी 2013

राजा है बसंत..


*

राजा है बसंत, ऋतुराज नाम कहै देत, सारी ऋतुअन सों नज़राना धरावत है.
सरद में सारदा को करन प्रनाम, एक माह पहिले ही आय आगमन जनावत है ,
*
जाड़े की ठिठुरन को ठाकुर ठिराय कहत ,चौरहे सजाये सारे होरिका जरावन को,
संयम को ढील दै जो भावै बकि लेहु, चाहे गारी में, चाहे कबीर अरु फागन सों,
*
होरी को हुरंग, जड़-जीव फगुनाय रहे ,  बिसरी मरजाद नर-नारी सुभावन में
बाबा भी देउर समान बनि जात इहाँ,  बिरछ हू जात बौराये ई फागुन में.
*
बुरा को माने, ई तो मदन खिलावत, बुहार देत मनोजाल मुक्त द्वार खोलि के
राजा को अदेस को विरोध करे कौन, अंतर को कबाड़ हू जरावत है होलिके.
*
रागरंग देखि भूलि साखी औ रमैनी, अंड-बंड बकै लाग, ढंग देखो कबीर को,
मधु और माधव मचाय रहे धूम, जड़-जंगम में मनसिज सों पायो है जीत को?
*

19 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुंदर .... आंचलिक शब्दों का रंग ही अलग होता है ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही सुन्दर परस्ती,आपका आभार है प्रतिभा जी.
    मेरे ब्लोग्स संकलक (ब्लॉग कलश) पर आपका स्वागत है,आपका परामर्श चाहिए.
    "ब्लॉग कलश"

    उत्तर देंहटाएं
  3. बुरा को माने, ई तो मदन खिलावत, बुहार देत मनोजाल मुक्त द्वार खोलि के
    राजा को अदेस को विरोध करे कौन, अंतर को कबाड़ हू जरावत है होलिके.

    बहुत सुंदर ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर..वसंत का जादू सिर चढ़ कर बोलता है..

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह ... आंचलिक भाषा का आनंद बसंत की खूबसूरती को कई गुना ज्यादा गर देती है ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुन्दर प्रस्तुति बहुत ही अच्छा लिखा आपने

    उत्तर देंहटाएं
  7. अद्वितीय प्रतिभा है आपकी ....
    शुभकामनायें आपको !

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत खूबसूरत रचना !
    बसंत पंचमी की शुभकामनाएँ !!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. बनन में बागान में बगरो बसंत है ....!!
    शुभकामनायें ....

    उत्तर देंहटाएं
  10. सरस्वती पूजन का पर्व मंगलमय हो ...सादर !

    उत्तर देंहटाएं
  11. माता जी प्रणाम बस आनंद आ गया

    उत्तर देंहटाएं
  12. बसंत से फागुन तक सभी दृश्यों को समाहित करता सुंदर अतिसुंदर छंद, यूँ लगा जैसे सेनापति के युग में पहुँच गये. आभार

    उत्तर देंहटाएं
  13. वसंत से फगुआ तक मनभावन... बहुत सुन्दर रचना, शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  14. ब्लॉग पर ही बसंत आ गया...आप जो भी लिखती हो सदा बढ़िया होता है...बसंत की शुभकामनाएँ....

    उत्तर देंहटाएं