रविवार, 8 सितंबर 2013

नचारी - जय गणेश.

*
जय हो गनेश ,प्रथम तुमका मनाय लेई ,
कारज के सारे ही विघ्न टल जायेंगे !
नाहीं तो देवन के दफ़्तर में गुजर नहीं,
तुमका मनाय सारे काज सर जायेंगे !
*
सारे पत्र-बंधन के तुम ही भँडारी हो ,
हमरे निवेदन को पत्र तुम करो सही,
हमसों पुजापा लेइ ,आगे बढ़ाय देओ !
बाबू हैं गनेस, तिन्हें पूज लेओ पहले ई !
*
दस चढ़ाय देओ, ई हजार बनवाय दिंगे
कलम की मार बड़े-बड़े नाचि जायँगे ,
उदर बिसाल सब चढ़ावा समाय लिंगे
इनकी किरपा से सारे संकट कटि जाहिंगे !
*
कहूँ जाओ द्वारे पे बैठे मिलि जावत हैं ,
देखत रहत कौन, काहे इहाँ आयो है !
कायदा कनून तो जीभै पे धर्यो है पूरो!
नाक बड़ी लंबी, सूँघ लेत सब उपायो हैं
*
चाहे लिखवार ,तबै लिखन बैठ जाइत हैं
क्लर्की निभात बड़े बाबू पद पायो  है.
वाह रे गनेस, तोरी महिमा अपार
आज तक किसउ से जौन बुद्धि में न हार्यो है!
*
विधना के दफ़्तर के इहै बड़े बाबू हैं
पूजै प्रथम बिना तो काजै न होयगो,
सारी ही लिखा-पढ़ी इनही के हाथ,
जौन उनते बिगार करे जार-जार रोयगो !
*
हाथन में लडुआ धरो , पत्र-पुस्प अर्पन करो ,
सुख से निचिंत ह्वैके जियो जिय खोल के
पहुँचवारे पूत, रुद्र और चण्डिका के है जे,
इनके गुन गान करो, सदा जय बोल के !
***

27 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस प्रस्तुति की चर्चा आज सोमवार [09.09.2013]
    चर्चामंच 1363 पर
    कृपया पधार कर अनुग्रहित करें
    सादर
    सरिता भाटिया

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर गणेश वंदना, हार्दिक शुभकामनाएं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  3. गणेश चतुर्थी की शुभकामनायें .... बड़े बाबू को प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर वन्दना!!
    गणेशचतुर्थी की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर..आप को भी गणेश चतुर्थी कीआप को बहुत बहुत शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  6. बप्पा की बहुत सुंदर स्तुति ..... सच में वे बड़े बाबू हैं , नमन

    उत्तर देंहटाएं
  7. बड़े बाबू की कृपा बनी रहे.

    उत्तर देंहटाएं
  8. गणेश चतुर्थी की शुभ कामनाएं.....

    उत्तर देंहटाएं
  9. प्रथम पूजे गणेश ...
    इन महाकाय की महिमा तो घट घट में है ... बड़े बाबू को हमारा कोटि कोटि प्रणाम ...

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार १० /९ /१३ को राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी आपका वहाँ हार्दिक स्वागत है ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. गणेश चतुर्थी पर जोरदार प्रस्तुति। शुभ कामनाएँ इस पर्व की ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. वाह ! गणपति की इतनी प्यारी स्तुति..अब तो वह आप पर सदा की तरह सदा कृपा बरसाएंगे !

    उत्तर देंहटाएं
  13. वास्तव में आजकल के हालात कुछ ऐसे ही हैं ..सटीक

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत सुन्दर प्रस्तुति। ।

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सटीक व्यंग्य लिखा आपने गणेश जी के बहाने.

    उत्तर देंहटाएं
  16. अद्भुत गणेश वंदना सुप्रभात संग प्रणाम स्वीकारें

    उत्तर देंहटाएं
  17. गणेशजन्मस्मृति आप को सपरिवार शुभ हो !
    सीधे सादे शब्दों में मन की बात भोले पण से बिना साहित्यादाम्बर के रखने के लिये वधाई !!

    उत्तर देंहटाएं
  18. गणेशजन्म-स्मृति आप को सपरिवार शुभ हो !
    सीधे सादे शब्दों में मन की बात भोले पण से बिना साहित्याडम्बर के रखने के लिये वधाई !!

    उत्तर देंहटाएं
  19. woww..sach me...kitti achi nachari likhi pratibha jee..:D
    padhke sweet lagi rachna..hansi bhi dher aayi...fir comments me dekha to aur aspect pata chala..k sach me vyangya bhi karaara hai :):)
    khoob achhi lagi..:D khoob saari badhayi is aanand'dayi rachna hetu..:)

    उत्तर देंहटाएं
  20. गणेश जी हर बात मौन रूप में देखते है ..जय गणेश बड़ा ही अच्छा लगा पढ़ कर मेरे भी आने का निवेदनहै

    उत्तर देंहटाएं
  21. गणपति चित्रण का नया अंदाज़ ... मज़ा आ गया ... आम भाषा में तो ये ही ठीक वंदन है ... कम से कम समझ तो आ जायगा हर ल्किसी को ... बहुत खूब ...

    उत्तर देंहटाएं
  22. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मुझे खेद है -यह संग्रहणीय टिप्पणी ब्लाग से मेरे अनजाने में ही हट गई , मैं तो पढ़ भी नहीं पाई थी.
      - प्रतिभा सक्सेना

      हटाएं
  23. बहुत समय हो गया आपकी कोई रचना पढ़े .. आशा है स्वास्थ ठीक होगा ... नव वर्ष की मंगल कामनाएं ...

    उत्तर देंहटाएं